रामगंज मंडी से आने वाली तीसरी लाइन के लिए यहां बनाए गए दो नए प्लेटफार्म पर भी नान इंटरलाकिंग सिस्टम का काम 28 दिसंबर से चल रहा है

भोपाल। संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर चल रहे 21 करोड़ से के विकास कार्य के चलते पांच जनवरी तक कई ट्रेनों को निरस्त कर दिया गया है। इसी के साथ रामगंज मंडी से आने वाली तीसरी लाइन के लिए यहां बनाए गए दो नए प्लेटफार्म पर भी नान इंटरलाकिंग सिस्टम का काम 28 दिसंबर से चल रहा है, इसके लिए स्टेशन से होकर गुजरने वाली लगभग 37 ट्रेनों का या तो रूट बदला गया है, या उन्हें निरस्त किया गया है। पश्चिम-मध्य भोपाल रेल मंडल के अनुसार नान इंटरलाकिंग का काम 28 से प्रारंभ होकर 5 जनवरी तक चलेगा। बता दें कि छह अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिल्ली से प्रदेश के 18 स्टेशनों का वर्चुअली भूमि पूजन किया गया था। उसी के तहत संत नगर स्टेशन पर भी विकास कार्य कराए जा रहे हैं।

यह ट्रेनें रहेंगी निरस्त :
दोनों तरफ निरस्त रहने वाली ट्रेनों में इंदौर सिवनी पंचवेली, छिदवाड़ा-इंदौर पंचवेली, डा. आंबेडकर-भोपाल, दाहोद एक्सप्रेस, जयपुर-भोपाल एक्सप्रेस, प्रयागराज-आंबेडकर नगर, हैदराबाद-जयपुर, हैदराबाद-हिसार, वाराणसी-गांधीनगर, वाराणसी- इंदौर, फीरोजपुर-छावनी, नागपुर-जयपुर, इंदौर-पटना एक्सप्रेस, आम्बेडकर नगर-रीवा एक्सप्रेस, जबलपुर-बांद्रा, जयपुर-हैदराबाद, बीकानेर-शिरडी के साईंबाबा, हिसार-तिरुपति एक्सप्रेस शामिल हैं।

इन ट्रेनों का बदला गया है मार्ग :
इसके अलावा जिस ट्रेन का मार्ग परिवर्तित किया गया है, उसमें जयपुर-कर्नूल सिटी का मार्ग परिवर्तित किया गया है और यह भोपाल बीना सोगरिया, वाई माधोपुर रूट से चलाई जाएगी। निरस्त ट्रेने 28 दिसम्बर से अलग अलग तारीखों छह जनवरी तक प्रभावशील रहेंगी।

क्या है नान इंटर लाकिंग सिस्टम:
नान इंटर लाकिंग सिस्टम के तहत पटरियों को आपस में जोड़ने का काम किया जाता है। चूंकि रामगंज मंडी से तीसरी लाइन का काम तेजी से चल रहा है और तीसरा एवं चौथा प्लेटफार्म पूरी तरह से तैयार हो गया है। इस कारण सिग्नल सिस्टम एवं बड़े-बड़े ब्लॉक स्थापित करने का काम भी इसी बीच किया जाएगा।

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story