सुप्रीम कोर्ट ने स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह को चेतावनी दी है कि क्रेडिट सुइस एजी को अगर भुगतान करने का आदेश नहीं माना तो उन्हें तिहाड़ भेज दिया जाएगा।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह को चेतावनी दी है कि क्रेडिट सुइस एजी को अगर भुगतान करने का आदेश नहीं माना तो उन्हें तिहाड़ भेज दिया जाएगा। अदालत ने आदेश दिया है कि वह सुइस को एक किश्त में 5 लाख अमेरिकी डॉलर और 1 मिलियन अमेरिकी डॉलर की डिफॉल्ट राशि का भुगतान करने के आदेश दिए हैं। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट की दो सदस्यीय बेंच में शामिल न्यायमूर्ति विक्रम नाथ और न्यायमूर्ति अहसानुद्दीन अमानुल्लाह डिली-डेली बिजनेस से नाराज है। पीठ ने सिंह से कहा कि आपको सहमति की शर्तों का पालन करना होगा। आप मर ही क्यों न जाएं, हमें इसकी चिंता नहीं लेकिन आप भुगतान करना होगा नहीं तो हम आपको तिहाड़ जेल भेज देंगे।

सुप्रीम कोर्ट की इस सख्त टिप्पणी के बाद एयरलाइन्स कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा है कि स्पाइसजेट कानूनी प्रक्रिया को सम्मान देती है और क्रेडिट सुईस मामले में अदालत के निर्देशों का पालन करने के लिए हम पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। कंपनी ने यह भी कहा कि अदालत से जारी आदेश के बाद स्पाइस जेट ने क्रेडिट सुइस को 8 मिलीयन अमेरिकी डॉलर का भुगतान कर दिया है।

यह है क्रेडिट सुइस और स्पाइसजेट का विवाद :
क्रेडिट सुइस व स्पाइसजेट के बीच 2015 से कानूनी विवाद चल रहा है। क्रेडिट सुइस ने एयरलाइंस पर 2.4 करोड़ डॉलर (करीब 198 करोड़ रुपए) के बकाये का दावा किया है। मद्रास हाईकोर्ट ने 2021 में कंपनी बंद करने का आदेश दिया था। अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के आदेश को खारिज कर दिया था और दोनों पक्षों को इसका समाधान निकालने के लिए कहा था। इसके पूर्व बीते साल दोनों कंपनियों ने शीष कोर्ट से कहा था कि वे मामले को निपटाने के लिए एकमत हो गए हैं। मगर इसी साल क्रेडिट सुईस ने स्पाइस जेट के एमडी अजय सिंह के विरुद्ध अवमानना का मामला दायर करते हुए कहा था कि कंपनी सेंटलमेंट की शर्तों के अनुसार भुगतान करने में नाकाम रही है।

Updated On 13 Sep 2023 12:50 PM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story