राजधानी भोपाल के आसपास इस साल एक और औद्योगिक क्षेत्र विकसित होने जा रहा है। हम बात कर रहे हैं अगरियाछापर में बनने वाले मल्टी इंडस्ट्री क्लस्टर की। बता दें कि यह प्रदेश का पहला ऐसा क्लस्टर है, जहां तीन तरह के उद्योगों के लिए एक साथ क्लस्टर बनाए जा रहे हैं।

भोपाल। राजधानी भोपाल के आसपास इस साल एक और औद्योगिक क्षेत्र विकसित होने जा रहा है। हम बात कर रहे हैं अगरियाछापर में बनने वाले मल्टी इंडस्ट्री क्लस्टर की। बता दें कि यह प्रदेश का पहला ऐसा क्लस्टर है, जहां तीन तरह के उद्योगों के लिए एक साथ क्लस्टर बनाए जा रहे हैं। अभी यह ग्रामीण इलाका पिछड़ा हुआ है। बंजर जमीन पर केवल जंगली झाड़ियां हैं। सरकार के प्रयास से यह ग्रामीण इलाका औद्योगिक विकास का नया केंद्र बन जाएगा। सरकार का प्रारंभिक तौर पर अनुमान है कि इस क्लस्टर में 672 करोड़ रुपए तक निवेश आ सकता है। साथ ही भोपाल के छह हजार से ज्यादा को रोजगार भी मिलेगा।

पहले बन रहा था फर्नीचर क्लस्टर :
औद्योगिक केंद्र के लिए यहां जमीन की व्यवस्था की जा चुकी है। यहां पर उद्योगों के लिए एक से लेकर पांच एकड़ तक के औद्योगिक प्लॉट बनाए जा रहे हैं। शुरुआत में करीब 300 करोड़ का निवेश आने की संभावना है, जिसमें दो हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके बाद करीब 372 करोड़ के और के निवेश से 4000 और लोगों को रोजगार मिलने का अनुमान है। यहां पर उद्योग आने से यह क्षेत्र भी गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र की तरह विकसित हो सकेगा। पूर्व में यहां पर 200 एकड़ में फर्नीचर क्लस्टर बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया था , लेकिन आरा मशीनों के लिए परवलिया में जगह आवंटित कर दिए जाने से यहां पर फर्नीचर क्लस्टर के प्रस्ताव को रद्द कर दिया गया है।

बनाया जाएगा फूड क्लस्टर :
इस जगह पर फूड क्लस्टर बनाए जाने का प्रस्ताव है। इसके लिए 50 एकड़ जमीन की व्यवस्था की गई है। फूड चेन से जुड़ी कोई भी इंडस्ट्री यहां पर स्थापित की जा सकती है। इसमें गोविंदपुरा में बनने वाले चाउमीन, मिठाई व अन्य फूड पैकिंग उद्योग भी लगाए जा सकते हैं। यहां पर 44 इकाई में 152 करोड़ के निवेश का अनुमान है। इससे करीब दो हजार लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है।

बैरसिया व भोपाल के लिए बनेगा कृषि क्लस्टर :
यहां पर कृषि क्लस्टर की भी स्थापना की जा रही है। इसमें करीब 400 करोड़ रुपए का निवेश आने की संभावना है। इसके लिए पचास एकड़ जमीन का प्रावधान किया गया है। इसमें 11 उद्योग लगाए जा सकते हैं। यहां पर सिंचाई पाइप और उपकरण बनाने वाली कुछ कंपनियों ने जगह भी मांगी है। इन उद्योगों से करीब एक हजार लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है। इस मामले में उद्योग विभाग के अफसरों का कहना है कि हमने मल्टी क्लस्टर के लिए कारोबारियों को आमंत्रित किया है। अगरिया में अब चार क्लस्टर को जगह दी जा रही है। सब कुछ ठीक रहा तो ये बड़ा औद्योगिक क्लस्टर बन सकता है।

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story