मोरारी बापू केदारनाथ से शुरू होकर 12 ज्योतिलिंर्गों में कथा सुनाएंगे।उत्तराखंड कांग्रेस नेता और मंदिर समिति के पूर्व अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि बीकेटीसी के आदेशों का बार-बार उल्लंघन किया जा रहा है।

रुद्रप्रयाग। श्री बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति ने केदारनाथ मंदिर के बाहर लोगों को तस्वीरें या वीडियो लेते हुए पकड़े जाने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है। इसको लेकर साइन बोर्ड भी लगाया है। लेकिन अब कांग्रेस ने गर्भगृह के अंदर लोकप्रिय आध्यात्मिक धर्मगुरू मोरारी बापू की एक वायरल तस्वीर पर सवाल उठाया है।

मोरारी बापू की तस्वीर वायरल :
बीकेटीसी ने दावा किया कि कथित तौर पर शुक्रवार को ली गई वायरल तस्वीरों में मोरारी बापू को मंदिर के गर्भगृह के अंदर प्रार्थना करते हुए दिखाया गया है। अपनी राम कथाओं के लिए जाने जाने वाले मोरारी बापू केदारनाथ से शुरू होकर 12 ज्योतिलिंर्गों में कथा सुनाएंगे। एक वीडियो संदेश में उत्तराखंड कांग्रेस नेता और मंदिर समिति के पूर्व अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि बीकेटीसी के आदेशों का बार-बार उल्लंघन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले ही समिति ने कहा था कि केदारनाथ जी के गर्भगृह के अंदर किसी भी वीडियो रिकॉर्डिंग की अनुमति नहीं दी जाएगी। लेकिन कल शाम गर्भगृह को दिखाने वाला एक वीडियो वायरल हुआ। गणेश गोदियाल ने कहा कि मेरा मानना है कि सरकार कुछ भी संभालने में सक्षम नहीं है। लोगों ने बहुत उम्मीद के साथ इस सरकार को चुना क्योंकि उन्होंने लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के वादे किये थे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसके बजाय हमारे देवालय सुरक्षित नहीं हैं। गणेश गोदियाल ने कहा कि समिति के आदेशों का लगातार उल्लंघन किया जा रहा है और प्रभावशाली लोग कैमरे लेकर वहां जा रहे हैं। गणेश गोदियाल ने घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के बारे में पूछते हुए कहा कि करीब 24 घंटे बीत गये लेकिन सरकार ने कोई संज्ञान या कार्रवाई नहीं की है। वहीं एक बयान में बीकेटीसी ने कहा कि उसने केदारनाथ गर्भगृह के अंदर तस्वीरें लेने पर सख्त रुख अपनाया है।

शुक्रवार शाम को सोशल मीडिया पर केदारनाथ गर्भगृह की एक तस्वीर वायरल होने के बाद, बीकेटीसी ने मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की और उस व्यक्ति को ढूंढ लिया जिसने इसे क्लिक किया था। कार्रवाई के डर से इंदौर निवासी तीर्थयात्री ने लिखित में माफी मांगी है। साथ ही अपने कृत्य के बदले में तीर्थयात्री ने बीकेटीसी फंड में 11,000 रुपये का विशेष दान भी दिया है।

तस्वीर खींचने वाले ने मांगी माफी :
तीर्थयात्री ने अपने माफीनामे में कहा कि जब प्रसिद्ध कथावाचक मोरारी बापू गर्भगृह में पहुंचे तो वह भी वहां मौजूद थे। भावुक होकर उन्होंने गर्भगृह में शिवलिंग के साथ बापू की फोटो खींची और सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी। तीर्थयात्री ने यह भी कहा है कि गर्भगृह के अंदर मंदिर के कर्मचारियों ने उसे तस्वीरें न लेने की हिदायत दी थी, लेकिन उसने भावुक होने के कारण चुपचाप तस्वीरें खींच लीं।

Updated On 24 July 2023 7:53 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story