प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी एनडीए में सक्रियता बढ़ा दी है। पीएम मोदी 10 दिनों के अंदर एनडीए के 400 से ज्यादा सांसदों से मुलाकात करने जा रहे हैं।

नई दिल्ली। एक ओर जहां नया विपक्षी गठबंधन 'इंडिया' अलर्ट मोड पर है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी एनडीए में सक्रियता बढ़ा दी है। खबर है कि पीएम मोदी 10 दिनों के अंदर एनडीए के 400 से ज्यादा सांसदों से मुलाकात करने जा रहे हैं। खास बात है कि 18 जुलाई को ही एनडीए के 25 साल पूरे होने पर एनडीए के 39 दलों की बैठक हुई थी। संभावनाएं जताई जा रही हैं कि पीएम 2024 चुनाव को लेकर रणनीति तैयार कर सकते हैं।

क्या है प्लान :
दरअसल, भाजपा ने एनडीए के 430 सांसदों को 11 क्षेत्रों में बांटा है। अब पीएम मोदी क्षेत्रवार ही 31 जुलाई से 10 अगस्त के बीच इन सांसदों से मुलाकात करने की तैयारी कर रहे हैं। पीएम मोदी और सांसदों के बीच बैठकों की तैयारी केंद्रीय मंत्री संजीव बालयान, बीएल वर्मा, धर्मेंद्र प्रधान और शांतनु ठाकुर कर रहे हैं। खबर है कि 31 जुलाई यानी पहले दिन पहले दिन वह उत्तर प्रदेश के पश्चिम हिस्से, कानपुर, बृज, बुंदेलखंड, पश्चिम बंगाल, झारखंड और ओडिशा के सांसदों से मिलेंगे। 83 सांसदों से यह मुलाकात दो चरणों में शाम 6.30 और 7.30 बजे होगी। यहां भाजपा प्रमुख जगत प्रकाश नड्डा, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद रह सकते हैं। इसके अलावा दूसरी बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शिरकत करेंगे।

तीसरे और चौथे क्लस्टर की बैठक 2 अगस्त को होगी, जिसमें उत्तर प्रदेश के काशी, गोरखपुर और अवध, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल, पुडुचेरी, अंडमान और निकोबार और लक्षद्वीप से 96 सांसद शामिल होंगे। 3 अगस्त को 5वें और 6वें क्लस्टर की बैठक में बिहार, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा, उत्तराखंड, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख के 63 सांसद शामिल होंगे। राजस्थान, महाराष्ट्र और गोवा के 76 सांसदों से पीएम मोदी 8 अगस्त को मुलाकात करने वाले हैं। साथ ही 9 अगस्त को मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात, दादर और नगर हवेली, दमन और दियू के 81 सांसदों से चर्चा होगी। खास बात है कि भाजपा जल्द ही पूर्वोत्तर क्षेत्र के 31 सांसदों से मिलने की तारीख तय करने वाली है।

क्या होगा एजेंडा :
बैठकों के दौरान सांसद अपने क्षेत्रों में काम, केंद्रीय योजनाओं की स्थिति पर बात कर सकते हैं। साथ ही लोगों से जुड़ने के लिए मदद की मांग भी रख सकते हैं। खास बात है कि इस पूरी प्रक्रिया में टीम मोदी के सभी 21 केंद्रीय मंत्री मेजबान के तौर पर शामिल रहेंगे। यह पहली बार है, जब एनडीए के सांसद क्षेत्रवार पीएम से मिल रहे हैं। कहा जा रहा है कि भाजपा लोकसभा चुनाव में 50 फीसदी वोट शेयर सुरक्षित करने की तैयारी कर रही है।

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story