हरियाणा के नूंह में सोमवार को ब्रजमंडल 84 कोस शोभायात्रा पर पथराव और फायरिंग के बाद हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। पत्थरबाजी, गोलीबारी और आगजनी में दो होम गार्ड के जवानों की मौत हो गई है।

नूंह। हरियाणा के नूंह में सोमवार को ब्रजमंडल 84 कोस शोभायात्रा पर पथराव और फायरिंग के बाद हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। पत्थरबाजी, गोलीबारी और आगजनी में दो होम गार्ड के जवानों की मौत हो गई है। गुरुग्राम में भी धार्मिक स्थल पर हमला हुआ है, इसमें एक की मौत हो गई है। नूंह हिंसा में डीएसपी समेत 12 पुलिस कर्मचारी घायल हैं। इसके अलावा 20 से अधिक आम लोग घायल हैं। इंटरनेट सेवा को बुधवार तक बंद कर दिया गया है। इसके साथ ही जिले की सीमाएं भी सील कर दी गई हैं।

स्थिति नियंत्रण में :
नूंह में हुई झड़प पर हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज का कहना है कि नूंह में स्थिति नियंत्रण में है और जिले में कर्फ्यू लगा दिया गया है। दोनों समुदाय लंबे समय से नूंह में शांतिपूर्वक रह रहे हैं। इसके पीछे एक साजिश है। जिस तरह से पत्थर, हथियार, गोलियां मिलीं, ऐसा लगता है कि इसके पीछे कोई मास्टरमाइंड है। हम विस्तृत जांच करेंगे और इसमें शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।

अर्धसैनिक बलों की 13 कंपनियां तैनात :
हरियाणा सरकार के अधिकारी ने कहा कि नूंह, सोहना और आसपास के जिलों में स्थिति नियंत्रण में है। अर्धसैनिक बलों की 13 कंपनियां वहां तैनात की गई हैं, छह और कंपनियां जल्द ही पहुंचेंगी। फरीदाबाद, पलवल और गुरुग्राम में कोई कर्फ्यू नहीं लगाया गया है, हालांकि, इन जिलों में किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए धारा 144 लगाई गई है। सोहना में जल्द ही शांति समिति की बैठक शुरू होगी।

सोहना, मानेसर और पटौदी में इंटरनेट बंद :
सोहना, मानेसर और पटौदी में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। मेवात में इंटरनेट बंद है। नूंह में कर्फ्यू लगा है। गुरुग्राम के जिलाधीश एवं डीसी निशांत कुमार यादव ने जिले में कानून का पालन कराए जाने एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा-144 लागू की है। इस विषय में सोमवार शाम जिलाधीश की ओर से निर्देश जारी किए गए।

सोमवार को भड़की थी हिंसा :
दरअसल, विश्व हिंदू परिषद, मातृ शक्ति दुर्गा वाहिनी और बजरंग दल द्वारा सोमवार को निकाली गई ब्रजमंडल 84 कोस शोभा यात्रा के दौरान पथराव और फायरिंग से दो होम गार्ड जवानों की मौत हो गई जबकि कई पुलिसकर्मी और तकरीबन 24 लोग जख्मी हो गए। यात्रा में शामिल लोगों के साथ ही पुलिसकर्मियों पर भी पथराव किया गया। इस बीच दंगाइयों ने आगजनी कर दी। कई वाहनों में तोड़फोड़ कर आग लगा दी। सांप्रदायिक तनाव के बाद पूरे जिले में धारा-144 लगाकर इंटरनेट सेवा को बुधवार तक बंद कर दिया गया है। इसके साथ ही जिले की सीमाएं भी सील कर दी गई हैं।

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story