यदि कोई नियमित योग करता है तो उसका मस्तिष्क 50 वर्ष की आयु में भी जवां बना रहता है। वहीं नियमित योग करने से गंभीर बीमारियों का भी खतरा धीरे धीरे कम होने लगता है

भोपाल। अगर आप अपने सोचने और समझने की क्षमता को 50 की उम्र में भी जवां रखना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको नियमित योग करना होगा। लोग खुद को फिट रखने के लिए आज जिम, एरोबिक और डांस क्लास सहित न जाने क्या क्या करते हैं, लेकिन हाल ही में योग को लेकर हुए कुछ अध्ययन बताते हैं कि यदि कोई नियमित योग करता है तो उसका मस्तिष्क 50 वर्ष की आयु में भी जवां बना रहता है। वहीं नियमित योग करने से गंभीर बीमारियों का भी खतरा धीरे धीरे कम होने लगता है। इतना ही नहीं ब्लड प्रेशर और टोटल कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी सामान्य अवस्था में पहुंच जाता है।

डीआरडीओ में हुए शोध ने बताया योग का महत्व :
योग को लेकर आम लोग अक्सर कई तरह के अलग-अलग दावे करते रहते हैं। योग से ठीक हुई बीमारियों की दास्तां बताते कई वीडियो भी आपको सोशल मीडिया पर मिल जाते हैं, लेकिन देश में पहली बार रक्षा मंत्रालय के अनुसंधान संस्थान डीआरडीओ ने योग को लेकर अध्ययन किया है और इस अध्ययन में योग को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। डीआरडीओ के अनुसंधान में नियमित योग करने वालों को लेकर सकारात्मक नतीजे सामने आए हैं। इन नतीजों के मुताबिक यदि कोई व्यक्ति नियमित योग करता है तो उसका मस्तिष्क 40 से 50 साल की आयु में भी 20 से 30 साली वाली स्थिति में बना रहता है।

इस तरह होता है योग से फायदा :
इस अध्ययन में न केवल मस्तिष्क बल्कि उसकी स्थिति पर भी अध्ययन किया गया। इस अध्ययन की मानें तो मानव मस्तिष्क का विकास केवल 20 साल की आयु तक ही होता है और 30 साल बाद मस्तिष्क में धीरे-धीरे डी जेनरेशन की अवस्था शुरू हो जाती है, लेकिन नियमित योग करने वालों में डी जेनरेशन की प्रक्रिया रुक जाती है और मस्तिष्क लंबे समय तक जवां बना रहता है। साथ ही इस अध्ययन में ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन, हार्ट बीट, कोलेस्ट्राल और स्ट्रेस जैसे अन्य कारकों पर भी अध्ययन किया गया। अध्ययन में इन सभी कारकों में आश्चर्यजनक रूप से सकारात्मक बदलाव होते देखे गए।

अध्ययन में बनाए गए थे तीन समूह :
डीआरडीओ ने इस अध्ययन में पूरी तरह से स्वस्थ 100 लोगों को शामिल किया। इन सभी लोगों को पहले से कोई भी बीमारी नहीं थी। इसके बाद सभीे लोगों को अगले तीन माह या 90 दिनों के लिए नियमित 1 घंटा योग कराया गया। इस शोध के पहले और बाद में कई कारकों का अध्ययन किया गया, जिसके बाद सामने आए परिणाम हैरान करने वाले थे। अध्ययन में तीन समूह बनाए गए थे, जिसमें पहला समूह 20 से 29 साल आयु वर्ग, 30 से 39 साल आयु वर्ग और तीसरा समूह 40 से 50 साल आयुवर्ग के लोगों का था।

इस दौरान सभी लोगों को अध्ययन से पहले और बाद में ब्लड प्रेशर, हार्ट रेट और कोलेस्ट्रॉल लेवल का अध्ययन किया गया। साथ ही इन अध्ययनों को बीच-बीच में समय समय पर भी किया गया। अध्ययन के नतीजे चौंकाने वाले थे। नियमित योग करने वाले लोगों का ब्लड प्रेशर और टोटल कोलेस्ट्रॉल लेवल सामान्य स्थिति में पहुंच गया। नतीजों को वैज्ञानिकों के एलीट ग्रुप वाले अमेरिकन एजिंग एसोसिएशन के जर्नल में भी जगह दी गई।

दिमाग को रिलेक्स करने के लिए कर सकते हैं यह प्राणायम और आसान :
यदि आप भी इस अध्ययन के नतीजाें से उत्साहित हैं और योग प्राणायाम कर खुद को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो अपने मस्तिष्क को रिलेक्स बनाए रखें। इसके लिए नियमित शवासन और वृक्षासन जैसे आसन करें। साथ ही प्राणायाम आपके दिमाग को रिलेक्स करने में रामबाण सा काम करेंगे। दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए आप नियमित क्रमश: कपालभाति और भस्त्रिका प्राणायाम करें। इसे केवल 1 या दो मिनट करें। क्योंकि से केवल आपके फेफड़ों को साफ करेगा। वहीं इसके बाद गर्मी के दिनों में शीतली या शीतकारी और चंद्रभेदी जैसे प्राणायाम कर सकते हैं। इसके बाद भ्रामरी और नाड़ी शोधन प्राणायाम किए जा सकते हैं। ठंड के दिनों में केवल नाड़ी शोधन प्राणायाम ही काफी है।

Updated On 2 Sep 2023 6:40 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story