कलेक्ट्रेट में दो सप्ताह पूर्व रखी गई ईवीएम और वीवीपेट मशीन की कार्य प्रणाली को समझने के लिए अब तक केवल 165 लोग ही पहुंचे हैं।

भोपाल। कलेक्ट्रेट में दो सप्ताह पूर्व रखी गई ईवीएम और वीवीपेट मशीन की कार्य प्रणाली को समझने के लिए अब तक केवल 165 लोग ही पहुंचे हैं। सोमवार को केवल चार लोगों ने ही ईवीएम प्रदर्शन केंद्र के अंदर जाकर मशीन की कार्यप्रणाली को समझा। ज्यादातर लोग जानकारी के अभाव में प्रदर्शन केंद्र नहीं पहुंच रहे हैं। बता दें कि कलेक्ट्रेट परिसर में लिफ्ट के ठीक सामने ईवीएम और वीवीपेट मशीन को लोगों के अवलोकन के लिए रखा गया है, ताकि विधानसभा चुनाव से पूर्व मतदान की पारदर्शिता और मतदान करने के सही तरीके की जानकारी लोगों को दी जा सके।

तरह-तरह के बहाने बना रहे हैं लोग :
प्रदर्शन केंद्र पर सेवा दे रहे स्टाफ के अनुसार ज्यादातर लोग यहां पर विभिन्न कक्षों की जानकारी लेने आते हैं। इस पर यदि उन्हें ईवीएम की कार्यप्रणाली को समझने को कहा जाता है, तो वे समय का अभाव होने की बात कहकर निकल जाते हैं। कई लोग अभी मतदान नहीं करने की बात कहकर चले जाते हैं। उन्हें बताया कि यह मशीन मतदान के लिए नहीं केवल जानकारी देने के लिए है। इसके बाद भी वे लोग मशीन की कार्यप्रणाली को नहीं समझते हैं।

युवा दिखा रहे सबसे ज्यादा दिलचस्पी :
स्टाफ के अनुसार मशीन की कार्यप्रणाली को समझने के लिए सबसे ज्यादा दिलचस्पी युवा वर्ग के लोग दिखा रहे हैं। वे बारीकी से हर एक कार्यप्रणाली को समझते हैं। कुछ वरिष्ठ नागरिक भी रुककर इसे समझते हैं और वोटिंग करके देखते हैं। इस दौरान वोट होने के बाद वीवीपेट मशीन में पर्ची दिखने और कंट्रोल यूनिट में बीप सुनने तक रुकते हैं।

कलेक्ट्रेट में ईवीएम प्रदर्शन केंद्र में वोटिंग मशीन आम लोगों के लिए प्रदर्शित की गई है। विधानसभा चुनाव तक मशीन को यहां प्रदर्शित किया जाएगा, ताकि लोगों को जागरूक किया जा सके।

- संजय श्रीवास्तव, उप जिला निर्वाचन अधिकारी

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story