आदर्श आचार संहिता के लागू होते ही शासकीय, निजी व सार्वजनिक स्थानों पर बगैर अनुमति बैनर, पोस्टर, फ्लैक्स या स्याही से लिखे गए नारे व स्लोगन प्रतिबंधित कर दिए गए हैं।

भोपाल। आदर्श आचार संहिता के लागू होते ही शासकीय, निजी व सार्वजनिक स्थानों पर बगैर अनुमति बैनर, पोस्टर, फ्लैक्स या स्याही से लिखे गए नारे व स्लोगन प्रतिबंधित कर दिए गए हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर आशीष सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि नगर निगम द्वारा व्यावसायिक उद्देश्य से फ्लेक्स, होर्डिंग व बैनर लगाने के लिए स्थान तय किए गए हैं। विधानसभा चुनाव के दौरान राजनैतिक दल व प्रत्याशियों द्वारा चुनाव प्रचार-प्रसार के लिए नगर निगम कमिश्नर की अनुमति के बाद प्रचार प्रसार के लिए बैनर पर फ्लेक्स लगाए जा सकेंगे। कोई भी राजनैतिक दल या उसके प्रत्याशी चुनाव प्रचार के लिए किसी भी शासकीय या निजी भवन की दीवार पर नारे, बैनर, पोस्टर और फ्लैक्स नहीं लगा सकेंगे। इसके अलावा टेलीफोन और बिजली के पोल शासकीय जमीन या कार्यालयों में लगे पेड़ों पर चुनाव प्रसार करने वाली झंडिया और अन्य प्रचार सामग्री को नहीं लगा सकेंगे। जारी आदेश के अनुसार बिना लिखित अनुमति के निजी व शासकीय दीवारों पर चुनाव प्रचार के लिए स्याही खंडिया, रंग, पोस्टर, बैनर, फ्लैक्स या किसी अन्य पदार्थ से लिखकर किए गए प्रचार पर एक हजार रुपए तक का जुर्माना देना होगा। इसके अलावा सडक़ों को क्रास या आरपार करती हुई झंडियां, लाइट की सीरीज भी बिना अनुमति के नहीं लगाई जा सकेगी।

शिकायत के 24 घंटे के अंदर हटाना होगी प्रचार सामग्री :
इसके बाद भी यदि किसी राजनैतिक दल या व्यक्ति द्वारा नियमों का उल्लंघन किया जाता है, तो शासकीय विभाग के अधिकारी या निजी संपत्ति के मालिक द्वारा थाने में इसकी एफआईआर कराई जा सकती है। रोजाना आने वाली ऐसी शिकायतों की जानकारी संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी द्वारा जिला कार्यालय को देनी होगी। शिकायतकर्ता की शिकायत के आधार पर आपतिजनक सामग्री को 24 घंटे के भीतर हटाकर दो दिन के अंदर अपना सर्टिफिकेट जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में प्रस्तुत करना होगा।

लोक संपत्ति सुरक्षा दल गठित :
शिकायतों के निवारण के लिए लोक संपत्ति सुरक्षा दल गठित किया गया है। शिकायत के बाद नारे, फ्लैक्स व स्लोगन हटाने के लिए हर विधानसभा में पर्याप्त स्टाफ और मजदूर संबंधित रिटर्निंग आफिसरों द्वारा नगर निगम को उपलब्ध कराया जाएगा। किसी भी तरह के विवाद को रोकने के लिए संबंधित क्षेत्र के थाने द्वारा बल भी उपलब्ध कराया जाएगा।

Updated On 10 Oct 2023 9:40 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story