शहर की सात विधानसभाओं के 2043 पोलिंग बूथ पर आम लोगों को चुनाव के दौरान वोट देते समय किसी तरह की परेशानी न हो, इसको लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है।

भोपाल। शहर की सात विधानसभाओं के 2043 पोलिंग बूथ पर आम लोगों को चुनाव के दौरान वोट देते समय किसी तरह की परेशानी न हो, इसको लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है। इसके अलावा सातों विधानसभाओं में 35,136 मतदाता ऐसे हैं, जिनकी उम्र 80 वर्ष से अधिक है या फिर विकलांग होने के कारण वे मतदान केंद्र पर जाकर मतदान करने की स्थिति में नहीं हैं। ऐसे में इन्हें घर से ही मतदान करने की सुविधा दी जाएगी। जिले में 80 साल से अधिक उम्र के 27,089 मतदाता है। जिनमें 13397 पुरुष और 13692 महिलाएं हैं। जबकि दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 8047 हैं। इन्हें जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा घर से मतदान करने की सुविधा दी जाएगी, लेकिन इन्हें मतदान करने से एक सप्ताह पूर्व इसकी जानकारी सहायक रिटर्निंग अधिकारी को देनी होगी। जिसके बाद चार लोगों की टीम इनके घर जाकर मतदान के लिए बैलेट पेपर पर इनसे मुहर लगवाएगी।

आम लोगों के लिए रहेंगे यह इंतजाम :
एक मतदान केंद्र पर इस बार 1500 मतदाता ही मतदान कर सकेंगे। साथ ही परिवार के सभी सदस्यों के नाम भी एक ही मतदान केंद्र पर रहेंगे। इसके अलावा लोगों को परेशानी न हो इसके लिए मतदान केंद्र को भूतल पर ही बनाया गया है। पीने के पानी की व्यवस्था, फर्नीचर, बिजली और शौचालय जैसी व्यवस्थाओं को भी पूरा कर लिया गया है।

दिव्यांगों के लिए की जाएंगी यह व्यवस्थाएं :
इसके अलावा जो दिव्यांग मतदान केंद्र पर जाकर अपना वोट डालना चाहते हैं। उनके लिए स्वयंसेवी संस्थाओं और एनजीओ के माध्यम से व्यवस्थाएं कराई जा रही हैं। यह एनजीओ मतदान केंद्रों पर व्हीलचेयर और वॉकर की व्यवस्था करेंगे। स्वयं सेवी संस्था के लोग ही दिव्यांगों को मतदान केंद्र तक ले जाएंगे। जिन मतदान केंद्रो पर रैम्प नहीं हैं, वहां रैम्प की व्यवस्था भी की जाएगी।

Updated On 10 Oct 2023 7:14 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story