विधानसभा निर्वाचन 2023 के तहत लाइसेंसी हथियार धारकों को अपने हथियार जमा कराने होंगे। शनिवार को हथियारों की स्क्रीनिंग के लिए कलेक्टर भोपाल आशीष सिंह ने स्क्रीनिंग कमेटी गठित कर दी।

भोपाल। विधानसभा निर्वाचन 2023 के तहत लाइसेंसी हथियार धारकों को अपने हथियार जमा कराने होंगे। शनिवार को हथियारों की स्क्रीनिंग के लिए कलेक्टर भोपाल आशीष सिंह ने स्क्रीनिंग कमेटी गठित कर दी। बता दें कि स्क्रीनिंग कमेटी चुनाव आयोग द्वारा चुनाव की घोषणा के दिन से सभी लायसेंसी हथियारों की स्क्रीनिंग का काम शुरू करेगी। संभवत: चुनाव की अधिसूचना जारी होने की तारीख से पहले स्क्रीनिंग का काम पूरा कर लिया जाएगा। स्क्रीनिंग कमेटी में शहरी क्षेत्र के लिए पुलिस कमिश्नर भोपाल अध्यक्ष होंगे और अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर नगरीय (प्रशासन) भोपाल सदस्य के रूप में काम करेंगे, जबकि ग्रामीण क्षेत्र के लिए जिला दंडाधिकारी भोपाल अध्यक्ष डीआईजी ग्रामीण भोपाल सदस्य के रूप में काम करेंगे।

उम्मीदवार वापस लेने की तिथि से पहले जमा करने होंगे हथियार
इन सभी लाइसेंसी धारकों की स्क्रीनिंग के बाद कमेटी एक रिपोर्ट जारी करेगी। रिपोर्ट मिलने के बाद लाइसेंसी हथियार धारक को चुनाव में उम्मीदावारी वापिस लेने की अंतिम तिथि से पहले ही स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा नोटिस जारी किया जाएगा। नोटिस मिलने के बाद लाइसेंस धारकों को अपने हथियार तुरंत और किसी भी स्थिति में सात दिनों के भीतर जमा कराने होंगे। हथियार जमा कन कराने की स्थिति में लाइसेंसी पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि भोपाल में कुल 9687 लाइसेंसी हथियार हैं, जिनमें पुरुषों के नाम पर 9235 और महिलाओं के नाम पर 363 लाइसेंस जारी हुए हैं। जबकि बैंक के लिए 89 लाइसेंस जारी किए गए हैं।

पुलिस कमिश्नर और डीआईजी सुरक्षित रखवाएंगे हथियार
हथियारों को जमा कराने के बाद नगरीय क्षेत्र के लिए पुलिस कमिश्नर भोपाल और ग्रामीण क्षेत्र के लिए डीआईजी ग्रामीण भोपाल आग्नेयास्त्रों को सुरक्षित अभीरक्षा में रखने की व्यवस्था करेंगे। हथियार जमा कराने के बाद लाइसेंसी को रसीद दी जाएगी। वहीं विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित होने के एक हफ्ते के बाद लाइसेंसी को उसके हथियार वापिस कर दिए जाएंगे।

Updated On 10 Oct 2023 6:48 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story