अंतिम मतदाता सूची के प्रकाशन के बाद आदर्श आचार संहिता की तैयारियां तेज हो गई हैं। इसी के तहत शुक्रवार और शनिवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सी विजिल एप की ट्रेनिंग के लिए सत्र का आयोजन किया गया।

भोपाल। अंतिम मतदाता सूची के प्रकाशन के बाद आदर्श आचार संहिता की तैयारियां तेज हो गई हैं। इसी के तहत शुक्रवार और शनिवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सी विजिल एप की ट्रेनिंग के लिए सत्र का आयोजन किया गया। बता दें कि शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष निर्वाचन सम्पन्न कराने के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा सी-विजिल एप बनाया गया है। इस एप पर आम लोगों द्वारा आदर्श आचार संहिता के संबंध में की गई शिकायत के बाद 100 मिनट के अंदर उसका निराकरण किया जाएगा। कलेक्टर आशीष सिंह ने निष्पक्ष निर्वाचन के लिए गठित उडऩदस्ते (एफएसटी) और स्थिर जांच दल (एसएसटी) के सदस्यों की ट्रेनिंग के दौरान सी विजिल एप की उपयोगिता से संबंधित जानकारियां दीं।

इन मामलों में की जा सकेगी शिकायत :
सी विजिल के माध्यम से आम लोग झूठे समाचार (फेक न्यूज), पैसे बांटने, निर्वाचन के लिए शराब या नशीले पदार्थ बांटने, मुफ्त उपहार, मुफ्त आवागमन, डराना-धमकाना, साम्प्रदायिक द्वेषपूर्ण भाषण, बंदूक या रिवाल्वर का प्रदर्शन, सम्पति का विरूपण और पेड न्यूज जैसे मामलों की शिकायत कर सकेंगे।

पांच मिनट में होगी शिकायत, 20 मिनट में पहुंच जाएगी टीम :
सी विजिल एप पर कोई भी व्यक्ति आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की फोटो और वीडियो पोस्ट कर शिकायत कर सकता है। इस प्रक्रिया में लगभग पांच मिनट का समय लगता है। शिकायत मिलने के पांच मिनट बाद कंट्रोल रूम को इसके सत्यापन के लिए इसे फील्ड यूनिट को सौंपना होगा। फील्ड टीम को 15 मिनट के अंदर शिकायत स्थल पर पहुंचना होगा। तीस मिनट में फील्ड टीम द्वारा अपनी कार्यवाही को पूरा कर रिपोर्ट रिटर्निंग ऑफिसर को सौंपनी होगी। रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा 50 मिनट के अंदर स्थिति की जानकारी अपलोड करने की कार्यवाही की जाएगी। ऐसे 100 मिनट के अंदर कार्यवाही को पूरा किया जा सकेगा।

Updated On 10 Oct 2023 7:00 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story