आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतों का निराकरण 24 घंटे में हो। कलेक्टर आशीष सिंह ने यह निर्देश जिले की सभी विधानसभाओं में गठित सम्पत्ति विरूपण दल के सदस्यों को दिए हैं।

भोपाल। आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतों का निराकरण 24 घंटे में हो। कलेक्टर आशीष सिंह ने यह निर्देश जिले की सभी विधानसभाओं में गठित सम्पत्ति विरूपण दल के सदस्यों को दिए हैं। कलेक्टर के निर्वाचन आयोग द्वारा जारी आदेश के हवाले से कहा है कि आदर्श आचरण संहिता के उल्लंघन के संबंध में प्राप्त होने वाली सभी शिकायतों का निराकरण चौबीस घंटे में कर दिया जाना चाहिए। इसकी जानकारी निर्वाचन आयोग के पोर्टल पर भी दर्ज करना अनिवार्य है।

तेजी से हटाने होगे बैनर और झंडे :
कलेक्टर ने कहा है कि किसी भी शासकीय कार्यालय की दीवार पर पोस्टर, हाथ से लिखे हुए स्लोगन और किसी भी प्रकार के कटाउट होर्डिंग्स न लगे हो, यदि किसी भी जगह से पोस्टर, स्लोगन और होर्डिंग्स लगने की जानकारी मिलती है, तो बिना किसी देरी के कार्यवाही करनी होगी। इसके अलावा सरकारी बसों, बिजली, टेलीफोन के खंबों, रेल्वे स्टेशन, बस स्टैंड के साथ-साथ सार्वजनिक स्थानों से भी बैनर, झंडे हटाने होंगे। चुनाव की घोषणा के साथ ही संपत्ति विरूपण अधिनियम का कठोरता से पालन करना होगा। बिना किसी सूचना के भी शासकीय संपत्तियों की जांच करनी होगी।

समय सीमा में करनी होगी कार्रवाई :
आदर्श आचार संहिता लगते ही निर्वाचन की तारीख की घोषणा के बाद सरकारी सम्पत्ति पर लगे बैनर, झंडों को चौबीस घंटे में, टेलीफोन, बिजली खंभों के साथ-साथ निकाय क्षेत्रों में पहले से लगे राजनैतिक दलों के बैनर झंडो को 48 घंटे के अंदर जबकि निजी मकानों में अवैध रूप से लगे राजनैतिक प्रचार से संबंधित विज्ञापन 72 घंटे के भीतर हटाने का कार्य करना होगा।

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story