सहारा स्टेट स्थित एक निजी डॉग ट्रेनिंग सेंटर के मालिक और उसके दो साथियों ने मिलकर कुत्ते को फांसी पर लटका दिया और मालिक को गुमराह करते रहे।

भोपाल। भोपाल की सहारा स्टेट कालोनी में पालतू कुत्ते को फांसी पर लटकाकर मारने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। सहारा स्टेट स्थित एक निजी डॉग ट्रेनिंग सेंटर के मालिक और उसके दो साथियों ने मिलकर कुत्ते को फांसी पर लटका दिया और मालिक को गुमराह करते रहे। मामले में जब डॉग के मालिक ने पुलिस में शिकायत की तो सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पूरे मामले का खुलासा हो गया। मिसरोद थाने के एएसआई अशोक शर्मा ने बताया कि कालापीपल में रहने वाले शराब कारोबारी निखिल जायसवाल ने इसी साल एक मई को अपना पालतू कुत्ता सुल्तान (पाकिस्तानी बुल्ली ब्रीड) 11 मील स्थित एक डॉग ट्रेनिंग सेंटर में ट्रेनिंग के लिए छोड़ा था। इसका संचालक रवि कुशवाहा निखिल से प्रति माह 13 हजार रुपए ट्रेनिंग के वसूलता था। बाद में ट्रेनिंग संचालक ने पुलिस को बयान दिया कि डॉग काफी आक्रामक था और हमेशा भौंकता ही रहता था। इस कारण उसे मार दिया।

गुमराह करता रहा संचालक :
चार महीने की ट्रेनिंग 23 सितंबर को पूरी हो रही थी। इसके पूर्व निखिल ने 14 सितंबर को सेंटर फोन लगाकर कहा कि मैं अपने डॉग को लेने आ रहा हूं। इस पर रवि ने निखिल को आने से रोक दिया और कहा कि आप अभी मत आइए। इसे मेरे पास रहने दे, इसे हम फ्री ट्रेनिंग देंगे। इसके बाद 9 अक्टूबर को रवि का फोन आया और कहा कि डॉग की सांसें नहीं चल रही हैं। हम इसे सीपीआर दे रहे हैं। मैंने उन्हें अस्पताल ले जाने का कहा तो वे नहीं ले गए। निखिल 4 बजे सेंटर पहुंचे तब तक उनके डॉग की मौत हो चुकी थी। उन्होंने पोस्टमार्टम की बात कही, तो रवि ने कहा कि उनकी सरकारी अस्पताल में बात हो गई है वहां चले जाइए। वहां गया तो पोस्टमॉर्टम नहीं किया गया। इससे परेशान होकर उन्होंने डॉग का अंतिम संस्कार कर दिया। निखिल ने बताया कि सुल्तान उनके पारिवारिक सदस्य था। वे उस पर 15 लाख रुपए खर्च कर चुका था। उसकी मौत से पूरा परिवार सदमे में है।

सीसीटीवी फुटेज से पकड़ाए आरोपी :
निखिल कमी शिकायत के बाद जब पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पहुंची तो सीसीटीवी की फुटेज जब्त की। इसमें साफ दिखाई दे रहा है कि आरोपी रवि के साथ उसके दो कर्मचारी तरुण और नेहा डॉग को फंदे पर लटकाकर मार रहे हैं। 9 अक्टूबर को दोपहर 1 बजकर 38 मिनट पर नेहा ने सबसे पहले डॉग को गेट पर लटकाया। इसके बाद रवि और तरुण ने फंदा डॉग के गले में डाल दिया। सात मिनट की फुटेज में कुत्ता तड़पता हुआ दिख रहा है और तीनों ने उसे तब तक लटकाकर रखा। जब तक की उसकी मौत नहीं हो गई। फुटेज के आधार पर पुलिस ने रवि, तरुण और नेहा के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

मामले में तीनों आरोपियों को नोटिस देकर छोड़ दिया गया है। जिन धाराओं में प्रकरण दर्ज है, वह थाने से जमानती हैं।

- रत्न सिंह परमार, प्रभारी मिसरोद थाना

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story