तेजी से बढ़ रहे आंकड़ों के कारण स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम और जिला मलेरिया कार्यालय ने बचाव कार्य तेज कर दिया है।

भोपाल। भोपाल में एक बार फिर से डेंगू का संक्रमण तेजी से बढऩे लगा है। तेजी से बढ़ रहे आंकड़ों के कारण स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम और जिला मलेरिया कार्यालय ने बचाव कार्य तेज कर दिया है। आपको बता दें कि भोपाल में सितंबर माह में डेंगू के 170 मरीज मिले थे। जबकि अक्टूबर माह में अब तक 272 नए डेंगू पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं, यह आंकड़ा पिछले माह से भी 102 अंक ज्यादा हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग और जिला मलेरिया अधिकारी के सर्वे के बाद भी डेंगू का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। दरअसल स्वास्थ्य कर्मचारी डेंगू फैलाने वाले मच्छर के लार्वा को खत्म करने के लिए लार्वीसाइट का प्रयोग करते हैं। अब इसकी प्रभावशीलता पर ही सवाल उठने लगे हैं।

2019 के बाद तेजी से बढ़ा डेंगू पॉजिटिव का आंकड़ा :
भोपाल जिला मलेरिया कार्यालय की रिपोर्ट पर गौर करें तो 2019 के बाद यह पहली बार है, जब डेंगू का आंकड़ा इतनी तेजी से बढ़ा है। अधिकारियों के मुताबिक इस साल 1844 नमूनों की जांच की गई है, इनमें से 272 डेंगू पॉजिटिव निकले हैं। इय तरह वर्तमान आंकड़ों के अनुसार अक्टूबर माह में रोजाना औसतन 9 नए डेंगू पॉजिटिव मिले हैं। सितंबर में यह संख्या औसतन 5 थी।

इन क्षेत्रों में बढ़ गया है डेंगू का खतरा :
रिपोर्ट की मानें तो इस बार श्यामला हिल्स, ईदगाह हिल्स और गांधी मेडिकल कॉलेज कैंपस, कोहेफिजा और लालघाटी डेंगू के सबसे बड़े हॉट स्पॉट बनकर उभरे हैं। इन सभी क्षेत्रों में अब तक 71 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। श्यामला हिल्स, ईदगाह हिल्स क्षेत्र में 26, गांधी मेडिकल कॉलेज कैंपस में 23 और कोहेफिजा-लालघाटी में 22 डेंगू पॉजिटिव मिले हैं। खास बात यह है कि इस बार डेंगू ने अपना स्थान पूरी तरह से बदल दिया है। अवधपुरी, साकेत नगर, कटारा हिल्स की जगह इस बार नए क्षेत्रों में डेंगू फैल रहा है। गांधीनगर, विजय नगर, शिवलोक और टीला जमालपुरा क्षेत्र इस साल डेंगू फ्री जोन है। यहां एक भी डेंगू पॉजिटिव मरीज अब तक नहीं मिला है।

Updated On 30 Oct 2023 4:46 PM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story