इस दौरान अनुपस्थित मिले चार टीचर्स और एक लिपिक को सस्पेंड कर दिया गया। दो आउटसॉर्स कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दो टीचर्स को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं।

भोपाल। शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्न कराने के बाद कलेक्टर आशीष सिंह सोमवार को अचाकन नजीराबाद और सूरजपुरा की शासकीय प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शालाओं का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान अनुपस्थित मिले चार टीचर्स और एक लिपिक को सस्पेंड कर दिया गया। दो आउटसॉर्स कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दो टीचर्स को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। अनुपस्थित मिलीं नजीराबाद की प्रभारी प्रधान अध्यापिका दो वेतन वृद्धि रोकने के आदेश कलेक्टर ने दिए हैं। औचक निरीक्षण के दौरान सीईओ जिला पंचायत ऋतुराज सिंह और एसडीएम विनोद सोनकिया भी मौजूद थे।

इन शालाओं का किया औचक निरीक्षण :
कलेक्टर आशीष सिंह गवर्मेंट हायर सेकेंड्री स्कूल रूनाहा, गवर्मेंट मिडिल स्कूल नजीराबाद, गवर्मेंट मिडिल स्कूल सूरजपुरा का औचक निरीक्षण किया।

इन पर गिरी गाज :
औचक निरीक्षण के बाद कलेक्टर के आदेश पर जिला शिक्षा अधिकारी ने अनुपस्थित शिक्षिका सुशीला सोलंकी, शिक्षिका कुमुद कुशवाह, मीना चतुर्वेदी, और नानक प्रसाद अहिरवार को सस्पेंड कर दिया गया है। सहायक ग्रेड-3 शुभम सिंह को भी निलंबित किया गया है। नीलम शर्मा और आरती त्रिपाठी को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। आउटसोर्स कर्मचारी कान्हा मीणा और भजन गौर की सेवा समाप्त की गई है। गवर्मेंट मिडिल स्कूल नजीराबाद की प्रभारी प्रधान अध्यापिका की दो वेतन वृद्धि रोकी गई है।

आंगनबाड़ी केंद्र का किया औचक निरीक्षण :
कलेक्टर ने इस दौरान सूरजपूरा बैरसिया के आंगनबाड़ी केंद्र का भी औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान आंगनबाड़ी केंद्र बंद मिलने पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता राजकंवर की सेवा समाप्त करने के निर्देश दिए। साथ ही परियोजना अधिकारी प्रियंका दीवान के 7 दिन का वेतन काटने और दो वेतन वृद्धि रोकने की कार्रवाई करने के निर्देश जिला कार्यक्रम अधिकारी को दिए।

Updated On 20 Nov 2023 4:35 PM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story