हमीदिया अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों को पौष्टिक थाली परोसी जाएगी। इसके साथ भर्ती के दौरान हर मरीज को थाली, कटोरी-ग्लास और चम्मच भी दिए जाएंगे।

भोपाल। हमीदिया अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों को पौष्टिक थाली परोसी जाएगी। इसके साथ भर्ती के दौरान हर मरीज को थाली, कटोरी-ग्लास और चम्मच भी दिए जाएंगे। डिस्चार्ज के दौरान मरीजों को इन बर्तनों को लौटाकर नोड्यूज लेना होगा। अस्पताल में जल्द ही इस सुविधा की शुरुआत की जाएगी। फिलहाल इसे ऑर्थोपेडिक विभाग में ही शुरू किया गया है, धीरे-धीरे सभी विभागों में इस सुविधा का लाभ दिया जाएगा। दरअसल, अब तक मरीजों को खाने के लिए बर्तनों की सुविधा नहीं थी। मरीज कभी कागज में, तो कभी हाथ में ही खाना ले लेते थे। ऐसे में मरीज पूरा भोजन नहीं ले पाते थे। यही कारण है कि भरपूर पौष्टिक भोजन के लिए मरीजों को खाने की थाली दी जाएगी। इस थाली में मरीजों को दाल, रोटी, सब्जी, चावल और सलाद दिया जाएगा।

वार्डों में ही मिलेगा चाय-नाश्ता :
इसके साथ ही मरीज और उनके परिजनों को वार्ड में ही चाय नाश्ते की सुविधा दी जा रही है। अस्पाल का किचन संभालने वाली कंपनी अब वार्डों में चाय कॉफी और नाश्ते की व्यवस्था करेगी। दिन में तीन से चार बार नाश्ते की ट्रॉली वार्डों में जाएगी। दरअसल अस्पताल में 11वीं मंजिल तक वार्ड हैं। ऐसे में परिजनों को चाय पीने भी नीचे आकर अस्पताल के बाहर जाना पड़ता है। प्रबंधन का कहना है कि वार्ड में चाय नाश्ता मिलने से परिजन बार-बार नीचे नहीं जाएंगे। हालांकि इसके लिए परिजनों को शुल्क भी चुकाना होगा।

48 रुपए में दो समय का भोजन :
मरीज के 24 घंटे के खाने (सुबह का नाश्ता, दोपहर का खाना और रात का खाना) के लिए महज 48 रुपए बजट दिया जा रहा है। इस बजट में मरीजों को दोनों समय भोजन थाली ( एक कटोरी दाल, चावल, सब्जी, चार रोटी और सलाद ) के साथ सुबह दूध, बिस्किट या केला दिया जाना है। हालांकि अस्पताल प्रबंधन ने इस बजट को बढ़ाकर 100 से 150 रुपए करने का प्रस्ताव दिया था।

इनका कहना है :

हमारा उद्देश्य मरीजों को बेहतर व्यवस्थाएं करना है। मरीजों को बर्तन दिए जाएंगे जिससे मरीजों की परेशानी भी कम होगी।

- डॉ. आशीष गोहिया, अधीक्षक, हमीदिया अस्पताल

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story