हर्षवर्धन नगर में रहने वाले 53 साल के राजेश अवस्थी निजी कंपनी में काम करते थे और 24 नवंबर को एक दुर्घटना में घायल होने के बाद उनका इलाज बंसल अस्पताल में चल रहा था।

भोपाल। दुर्घटना में घायल होने के बाद ब्रेन डेड हुए राजेश अवस्थी अपने पीछे तीन जिंदगियों को जीवन दान दे गए हैं। दरअसल राजेश की पत्नी सुषमा अवस्थी उनके स्वस्थ होने का इंतजार कर रही थीं, लेकिन वे जीवन की जंग जीत नहीं पाए और ब्रेन डेड हो गए। यह बात जब उनकी पत्नी को बताई गई तो वे बेसुध हो गईं और अपने पति की मौत की खबर को मानने से इंकार कर दिया। बाद में बंसल अस्पताल के डॉक्टरों की लंबी समझाइश के बाद वे अपने पति के अंग दान करने के लिए राजी हो गईं।

खास बात यह रही कि इस दौरान राजेश अवस्थी की पार्थिव देह अस्पताल से ससम्मान बाहर लाई गई। अस्पताल का गलियारा फूलों से सजाया गया। पार्थिव शव परिवार वालों को सौंपने से पूर्व अस्पताल की ओर से सुषमा व अन्य परिजनों का सम्मान किया गया। इस दौरान पुलिस ने बैंड प्रस्तुति पर मृतक को सलामी दी।

लीवर और किडनी करवाई गईं डोनेट :
सुषमा से सहमति मिलने के बाद अंगदान की प्रक्रिया शुरू कराई गई। प्रक्रिया के दौरान मरीज की किडनी, लिवर डोनेट योग्य पाए गए। स्टेट ऑर्गन एंड टिशू ट्रांसप्लांट ऑर्गनाइजेशन को दी गई जानकारी के बाद लिवर बंसल अस्पताल व दोनों किडनी भोपाल के ही दो निजी अस्पताल को दी गईं। जहां से तीन लोगों को जीवन दान दिया जाएगा।

दुर्घटना के बाद हुए थे घायल :
हर्षवर्धन नगर में रहने वाले 53 साल के राजेश अवस्थी निजी कंपनी में काम करते थे और 24 नवंबर को एक दुर्घटना में घायल होने के बाद उनका इलाज बंसल अस्पताल में चल रहा था। अवस्थी के परिवार में उनकी पत्नी और कक्षा 11वीं में पढऩे वाला बेटा है। दुर्घटना में सिर पर गहरी चोट होने के कारण उन्हें ब्रेन हैमरेज भी हुआ था। बाद में चार डॉक्टरों की ब्रेन डेथ सर्टिफिकेशन कमेटी ने क्लीनिकल जांच और एपनिया व अन्य मेडिकल परिक्षण के बाद उन्हें ब्रेन स्टेम डेड घोषित कर दिया था।

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story