जानकारी के अनुसार रविवार को पांच बजे कोलार पर रहने वाले जिला गौरक्षक दल के प्रमुख वीरेंद्र सोनी को जानकारी मिली थी कि कोलार डैम के पास एक गाय को मगरमच्छ ने पकड़ लिया है

भोपाल। रविवार को कलियासोत डैम के अंदर एक गाय को खींच कर ले गए 15 फीट लंबे मगरमच्छ से गाय को बचाने के लिए एक गौरक्षक सीधे भिड़ गया। इस दौरान गौरक्षक गाय को बचाने में सफल रहा। जानकारी के अनुसार रविवार को पांच बजे कोलार पर रहने वाले जिला गौरक्षक दल के प्रमुख वीरेंद्र सोनी को जानकारी मिली थी कि कोलार डैम के पास एक गाय को मगरमच्छ ने पकड़ लिया है और वह उसे खींचकर पानी में ले जा रहा है। जानकारी मिलने के बाद वीरेंद्र कलियासोत पहुंच गए और पानी में उतरकर डंडा हाथ में लेकर मगरमच्छ से सीधे भिड़ गए। वीरेंद्र ने बताया कि एक दो बार डंडा मारने के बाद मगरमच्छ गाय को छोडक़र चला गया, जिसके बाद गाय को रस्सी से बांधकर शैलेष प्रजापति, राहुल और संदीप के साथ मिलकर गाय को बाहर निकाला। गाय को प्राथमिक उपचार के बाद जहांगीराबाद स्थित आसरा पशु चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

केरवा और कलियासोत में 24 से ज्यादा घड़ियाल :
मगर की पकड़ में आई गाय बुरी तरह जख्मी हो गई। उसके पेट और पांव पर गहरे जख्म हो गए थे। आसरा चिकित्सालय में गाय के पेट पर टांके लगाने के बाद उसका उपचार किया जा रहा है। बता दें कि केरवा और कलियासोत डैम में 24 से ज्यादा मगरमच्छ और घड़ियाल हैं। इनमें से 6 मगरमच्छ ऐसे हैं, जिनकी लंबाई 10 से 12 फीट है। इसके अलावा आठ फीट लंबे 10 मगरमच्छ हैं। इनसे बचने के लिए वन विभाग द्वारा चारों ओर बोर्ड लगाए गए हैं। इसके बावजूद भी लोग लापरवाही कर डैम में उतर जाते हैं।

Updated On 28 Aug 2023 12:20 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story