नरसिंहपुर जिले के 43 से अधिक मतदान केंद्रों में धीमा मतदान पर भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि कांग्रेस के इशारे पर इन मतदान केंद्रों में धीमा मतदान कराया गया।

भोपाल। नरसिंहपुर जिले के 43 से अधिक मतदान केंद्रों में धीमा मतदान पर भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि कांग्रेस के इशारे पर इन मतदान केंद्रों में धीमा मतदान कराया गया। प्रतिनिधि मंडल ने मतदान केंद्रों पर मौजूद निर्वाचन अधिकारियों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर मिलीभगत के बाद धीमा मतदान करने की शिकायत की है।

एक अन्य शिकायत में हरदा की टिमरनी विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी अभिजीत शाह व उनके साथियों पर मतदान दल को रोकने और शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज करने की मांग भाजपा ने की है।

यह लिखा शिकायत में :

भारतीय जनता पार्टी ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में सौंपे अपने ज्ञापन में शिकायत की है कि नरसिंहपुर विधानसभा क्षेत्र में जिला निर्वाचन अधिकारी ने 43 मतदान केंद्रों पर पीठासीन अधिकारी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर वोटिंग में देरी की, ताकि भाजपा का वोटबैंक प्रभावित हो। साथ ही दो दर्जन से अधिक बूथ आवश्यकता के बाद भी नहीं बनाए गए, ताकि भाजपा का मत प्रतिशत प्रभावित हो। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश के बाद भी मतदान केंद्रों की दूरी दो किलोमीटर से अधिक रखी गई। शिकायत के बाद भी जिला निर्वाचन अधिकारी ने मामले का निदान नहीं किया। इस कारण कई लोग अपने मत का सही उपयोग नहीं कर पाए हैं। भाजपा ने सभी मतदान केंद्रों के मतदान को शून्य घोषित कर फिर से मतदान कराए जाने की मांग की है।

टिमरनी विधानसभा क्षेत्र में मतदान स्थल से ईवीएम मशीन को सुरक्षित लेकर वापस आ रहे मतदान दल को टिमरनी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी अभिजीत शाह व उनके साथियों ने अपने गृह ग्राम खुदीया के चौराहे पर घेर कर रोका। मतदान कर्मियों को धमकाया गया और पुलिस दल मूकदर्शक बना रहा। भाजपा ने कांग्रेस प्रत्याशी व उनके साथ पर शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज करने की मांग निर्वाचन आयोग से की है।

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story