कांग्रेस की पहली सूची जारी होते ही भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने कांग्र्रेस पर हमला बोलते हुए कहा है कि कांग्रेस की सूची ने साबित कर दिया है कि जनता के बाद अब कांग्रेस हाईकामान को भी कमलनाथ पर विश्वास नहीं रहा

भोपाल। कांग्रेस की पहली सूची जारी होते ही भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने कांग्र्रेस पर हमला बोलते हुए कहा है कि कांग्रेस की सूची ने साबित कर दिया है कि जनता के बाद अब कांग्रेस हाईकामान को भी कमलनाथ पर विश्वास नहीं रहा, यही कारण है छिंदवाड़ा जिले में कमलनाथ को छोड़ किसी भी वर्तमान विधायक की टिकट फाइनल नहीं हुई। इस सूची में दिल्ली और दिग्विजय सिंह की छाप स्पष्ट नजर आ रही है। शर्मा ने कहा कि जनजातीय नायकों का अपमान, महिला उत्पीड़ करने वाले और वंदे मातरम का विरोध करने वालों को टिकट देकर कांग्रेस ने यह संदेश दिया है कि जिन नेताओं पर संगीन मामले दर्ज हैं, कांग्रेस ऐसे लोगों के साथ है।

इन पर उठाए सवाल :
शर्मा ने अपने बयान में उमंग सिंघार, सुरेश राजे और सिद्धार्थ कुशवाहा की उ मीदवारी पर सवाल उठाया है और कहा है कि इन नेताओं पर कई मामले दर्ज हो चुके हैं। इसके अलवा जयवर्धन सिंह, लक्ष्मण सिंह, प्रियव्रत सिंह, घनश्याम सिंह, सिंधु विक्रम सिंह, अजय सिंह सहित कई अन्य बड़े नेताओं के परिवार जनों और रिश्तेदारों को टिकट मिलने पर कहा है कि कांग्रेस में अब वंशवाद की राजनीति जारी है। इसी तरह प्रेमचंद गुड्डू की बेटी, अरूण यादव के भाई, अजय सिंह के मामा राजेन्द्र कुमार सिंह को भी टिकट देने पर सवाल उठाए हैं।

कांग्रेस की पहली सूची में दो सिंधी उम्मीदवार बनाए गए :
भोपाल। कांग्रेस की पहली सूची में घोषित 144 नाम में दो सिंधी प्रत्याशियों को भी मौका दिया गया है। इंदौर-4 से राजा माधवानी और सिवनी विधानसभा से आनंद पंजवानी को पार्टी ने मौका दिया है। इसके साथ ही छिंदवाड़ा से कमलनाथ, राऊ से जीतू पटवारी, इंदौर की प्रमुख सीट इंदौर एक से संजय शुक्ला, मध्य से आरिफ मसूद, नरेला से मनोज शुक्ला के नाम प्रमुख हैं।

Updated On 18 Oct 2023 8:58 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story