तमिलनाडु सरकार के मंत्री उदयनिधि स्टालिन ने सनातन धर्म को लेकर विवादित बयान का अब मशहूर अभिनेता और राजनेता कमल हासन ने बचाव किया है और कहा है कि सनातन विवाद में एक बच्चे को निशाना बनाया जा रहा है।

चेन्नई। तमिलनाडु सरकार के मंत्री उदयनिधि स्टालिन ने सनातन धर्म को लेकर विवादित बयान का अब मशहूर अभिनेता और राजनेता कमल हासन ने बचाव किया है और कहा है कि सनातन विवाद में एक बच्चे को निशाना बनाया जा रहा है। कमल हासन ने ये भी कहा कि हम लोगों को सनातन के बारे में पेरियार से पता चला। एक कार्यक्रम के दौरान कमल हासन ने कहा कि 'एक बच्चे को बेवजह निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि उसे सनातन के बारे में सिर्फ बोल दिया। उसके पूर्वजों ने भी सनातन पर बोला है। पेरियार ने ही हमें सनातन के बारे में बताया था। कमल हासन ने कहा कि पेरियार एक समय मंदिर में पूजा किया करते थे और अपने माथे पर तिलक भी लगाते थे। हासन ने कहा कि 'पेरियर, एक समय वाराणसी के एक मंदिर में रहते थे और वहां पूजा-पाठ किया करते थे और अपने माथे पर तिलक लगाते थे। अंदाजा लगा सकते हैं कि उनके अंदर कितना गुस्सा था कि उन्होंने ये सब त्याग करके लोगों की सेवा के लिए काम किया। उन्हें अहसास हुआ कि लोगों की सेवा ही सबसे बड़ी सेवा है। अपने जीवन के अंतिम समय में भी वह समाज के लिए जिए। उन्होंने कहा कि ना तो डीएमके ना ही कोई अन्य राजनीतिक पार्टी यह दावा कर सकती है कि पेरियार उनके हैं बल्कि पूरा तमिलनाडु, पेरियार को अपना मानता है।

दो सितंबर से जारी विवाद :
2 सितंबर को एक कार्यक्रम में सीएम स्टालिन के बेटे उदयनिधि स्टालिन ने सनातन धर्म को खत्म करने की बात कही थी। उन्होंने सनातन धर्म को डेंगू, मलेरिया आदि बताया था। स्टालिन ने कहा कि कुछ चीजों का विरोध नहीं किया जा सकता बल्कि उन्हें खत्म करना पड़ता है। हम डेंगू, मलेरिया या कोरोना का विरोध नहीं कर सकते बल्कि उन्हें खत्म करना पड़ता है, इसी तरह सनातन को खत्म करने की जरूरत है। उदयनिधि ने कहा था कि सनातन धर्म सामाजिक न्याय और समानता के खिलाफ है। उदयनिधि स्टालिन के बयान पर खूब हंगामा हुआ था। भाजपा ने इसे लेकर स्टालिन पर तीखा हमला बोला था।

Updated On 23 Sep 2023 10:40 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story