भारत ने अपना अजेय अभियान जारी रखते हुए सोमवार 7 अगस्त 2023 को चेन्नई में एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी के राउंड रोबिन मैच में गत चैंपियन साउथ कोरिया को 3-2 से हरा दिया।

नई दिल्ली। भारत ने अपना अजेय अभियान जारी रखते हुए सोमवार 7 अगस्त 2023 को चेन्नई में एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी के राउंड रोबिन मैच में गत चैंपियन साउथ कोरिया को 3-2 से हरा दिया। सोमवार को ही मलेशिया के खिलाफ जापान को हार झेलनी पड़ी। इस कारण साउथ कोरिया के खिलाफ मैच से पहले ही भारतीय हॉकी टीम की सेमीफाइनल में जगह सुनिश्चित हो गई थी। चेन्नई के मेयर राधाकृष्णन स्टेडियम में खेले गए मैच में भारत की ओर से नीलकांता शर्मा (छठे मिनट), हरमनप्रीत सिंह (23वें मिनट) और मनदीप सिंह (33वें मिनट) ने गोल दागे। कोरिया की ओर से किम सुंगह्युन ने 12वें मिनट, जबकि यैंग जीहुन ने 58वें मिनट में गोल किया। इस जीत के दम पर भारत 4 मैच में 10 अंक के साथ शीर्ष पर है। मेजबान टीम ने तीन मैच में जीत दर्ज की है, जबकि एक मैच ड्रॉ छूटा। भारत अपना आखिरी लीग मैच बुधवार को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगा, जबकि अंतिम चार में जगह सुनिश्चित करने के लिए साउथ कोरिया की भिड़ंत मलेशिया से होगी।

शुरुआत से ही भारत ने बनाई बढ़त
भारत ने मैच की अच्छी शुरूआत की। नीलकांता ने पहले क्वार्टर में छठे ही मिनट में भारत को बढ़त दिलाई। शमशेर सिंह ने अच्छा मूव बनाते हुए गेंद सुखजीत के पास पहुंचाई जिन्होंने दो डिफेंडर को छकाते हुए गेंद को नीलकांता के पास पहुंचा दिया। नीलकांता ने गेंद को गोल में डालने में कोई गलती नहीं की। भारत को हालांकि जश्न मनाने का अधिक समय नहीं मिला। साउथ कोरिया ने 6 मिनट बाद ही सुंगह्युन के गोल की बदौलत बराबरी हासिल की। सुंगह्युन ने मेनजेई जुंग के पास पर भारतीय गोलकीपर कृष्ण बहादुर पाठक को अपने दमदार शॉट से पछाड़ते हुए गोल किया। पाठक अपना 100वां अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे थे। दूसरे क्वार्टर में भारत का दबदबा देखने को मिला। मेजबान टीम ने चार मौके बनाए और 23वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर हरमनप्रीत के गोल की बदौलत स्कोर 2-1 कर दिया।

भारत ने आक्रामक रुख जारी रखा। टीम को एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन वह बर्बाद चला गया। मध्यांतर तक भारतीय टीम 2-1 से आगे थी। तीसरे क्वार्टर की शुरूआत में ही मनदीप ने शमशेर सिंह के पास पर गोल दागकर भारत की बढ़त को 3-1 तक पहुंचाया। कोरिया को पनेल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन कप्तान जोंगह्युन जैंग का शॉट लक्ष्य से दूर रहा। भारत को इसके बाद तीन और मौके मिले, लेकिन कार्ति सेलवम और मनदीप सिंह गोल करने में नाकाम रहे। चौथे क्वार्टर के दूसरे ही मिनट में भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला, जो पेनल्टी स्ट्रोक में बदला। हालांकि, हरमनप्रीत इसे गोल में नहीं पहुंचा सके। कोरिया को इसके लगातार चार पेनल्टी कॉर्नर मिले, लेकिन जैंग इनमें से किसी को भी गोल में नहीं बदल पाए।

कोरिया के गोलकीपर ने भी 50वें मिनट में मनदीप और सुखजीत के प्रयासों को नाकाम किया। कोरिया को पेनल्टी कॉर्नर पर और नाकामी हाथ लगी। टीम हालांकि 58वें मिनट में यैंग के मैदानी गोल से भारत की बढ़त को कम करने में सफल रही। कोरिया ने अंतिम लम्हों में बराबरी का गोल दागने का भरसक प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिली।

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story