जैसे-जैसे वर्ल्ड कप की तारीख नजदीक आ रही है वैसे ही बीसीसीआई की चिंता बढ़ने लगी है। अब हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन ने बीसीसीआई की चिंता बढ़ा दी है।

नई दिल्ली। जैसे-जैसे वर्ल्ड कप की तारीख नजदीक आ रही है वैसे ही बीसीसीआई की चिंता बढ़ने लगी है। अब हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन ने बीसीसीआई की चिंता बढ़ा दी है। एचसीए ने बीसीसीआई को पत्र लिखकर कहा है कि वह लगातार दो मैच का आयोजन नहीं कर सकता है। हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में नौ अक्टूबर को न्यूजीलैंड और नीदरलैंड्स के बीच मुकाबला खेला जाना है जबकि अगले ही दिन इसी मैदान पर पाकिस्तान और श्रीलंका का सामना होना है। भारत में होने वाले वर्ल्ड कप में अब ज्यादा समय नहीं बचा है। कुछ ही समय में टिकट की ब्रिकी भी शुरू हो जाएगी।

बीसीसीआई को मैच में गैप रखने को कहा :
हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन ने बीसीसीआई को खत लिखकर दोनो मैचों के बीच गैप रखने के लिए कहा है। पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच मुकाबला पहले 12 अक्टूबर को खेला जाना था लेकिन पाकिस्तान और भारत के मैच की तारीख बदलने से हैदराबाद को लगातार दो दिन मैचों की मेजबानी दी गई। हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन को अब 6 अक्टूबर को पाकिस्तान और नीदरलैंड्स के बीच होने वाले मैच की भी मेजबानी करनी है। हैदराबाद पुलिस का कहना है कि वह लगातार दो मैचों में सुरक्षा इंतजाम करने में सक्षम नहीं है। खासतौर पर पाकिस्तान के मुकाबले जिसमें अतिरिक्त सुरक्षा की जरूरत है।

शेड्यूल में बार-बार बदलाव :
साल 2019 में इंग्लैंड में और 2015 में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में जब वर्ल्ड कप आयोजन हुआ था तब शेड्यूल की घोषणा 12 महीने पहले ही कर दी गई थी। बीसीसीआई ने टूर्नामेंट शुरू होने से 100 दिन पहले शेड्यूल जारी किया जिसमें अब भी बदलाव किए जा रहे हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला 15 अक्टूबर को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला जाना थ। इसी दिन नवरात्रों का भी पहला दिन है जिस वजह से मैच की तारीख को बदला गया था। वहीं 12 नवंबर को कोलकाता में पाकिस्तान और इंग्लैंड का मैच खेला जाना था लेकिन काली पूजा को देखते हुए इसकी तारीख भी बदल दी गई।

Updated On 20 Aug 2023 9:58 AM GMT
Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story