भारत और वेस्टइंडीज के बीच वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबला कैरिबियाई टीम ने छह विकेट से जीत लिया। इस जीत के साथ ही वेस्टइंडीज ने तीन मैच की सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है।

बारबाडोस। भारत और वेस्टइंडीज के बीच वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबला कैरिबियाई टीम ने छह विकेट से जीत लिया। इस जीत के साथ ही वेस्टइंडीज ने तीन मैच की सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 40.5 ओवर में सभी 10 विकेट खोकर 181 रन बनाए थे। इसके जवाब में वेस्टइंडीज ने 36.4 ओवर में चार विकेट खोकर 182 रन बना लिए और छह विकेट से मैच अपने नाम किया। इस मैच में भारतीय टीम में रोहित शर्मा और विराट कोहली नहीं थे। दोनों दिग्गजों को आराम दिया गया था और इन दोनों की गैरमौजूदगी में टीम इंडिया पूरे 50 ओवर भी नहीं खेल पाई। इसी वजह से भारत को वेस्टइंडीज की उस टीम से हार का सामना करना पड़ा, जो वनडे विश्व कप के लिए क्वालिफाई भी नहीं कर पाई है और क्वालिफायर राउंड में जिम्बाब्वे और स्कॉटलैंड जैसी टीमों से हार गई थी। वेस्टइंडीज के लिए कप्तान शाई होप ने नाबाद 63 और केसी कार्टी ने नाबाद 48 रन बनाए। दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 91 रन की नाबाद साझेदारी कर वेस्टइंडीज को भारत के खिलाफ पिछले 10 वनडे मैच में पहली जीत दिलाई।

शानदार शुरूआत के बाद बिखरा भारत :
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम की शुरूआत शानदार थी। ईशान किशन और शुभमन गिल की जोड़ी ने पावरप्ले में कोई विकेट नहीं गिरने दिया और टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचा दिया। इन दोनों ने पहले विकेट के लिए 90 रन की शानदार साझेदारी की। इस बीच ईशान ने 51 गेंद में अपना अर्धशतक भी पूरा किया। हालांकि, ईशान का अर्धशतक होने के बाद शुभमन गिल बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में गुदाकेश मोती का शिकार बने। उन्होंने 49 गेंद में 34 रन बनाए। गिल के आउट होने के बाद किशन भी 55 रन बनाकर चलते बने। चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए अक्षर भी एक रन बनाकर आउट हो गए। तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए संजू सैमसन ने कप्तान हार्दिक के साथ मिलकर टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। इसके बाद हार्दिक सात रन बनाकर आउट हो गए और अगले ही ओवर में सैमसन भी नौ रन बनाकर चलते बने। इसके बाद बारिश की वजह से खेल रुक गया। बारिश के बाद सूर्यकुमार और जडेजा ने साझेदारी कर उम्मीद जगाई, लेकिन शेफर्ड ने पटकी हुई गेंद पर जडेजा को भी पवेलियन भेज दिया। जडेजा ने 10 रन बनाए। जडेजा के बाद सूर्या भी 24 रन बनाकर आउट हो गए। अंत में शार्दुल ठाकुर ने 16 रन का योगदान दिया, लेकिन भारतीय टीम 40.5 ओवर में 181 रन पर सिमट गई। वेस्टइंडीज ने 29वीं बार भारत को वनडे में 200 से कम के स्कोर पर रोका। कुलदीप यादव आठ रन बनाकर नाबाद रहे। उमरान मलिक खाता नहीं खोल पाए और मुकेश छह रन बनाकर आउट हुए। वेस्टइंडीज के लिए गुदाकेश मोती और रोमारियो शेफर्ड ने तीन-तीन विकेट लिए। अल्जारी जोशेप को दो विकेट मिले। जायडेन सेल्स और कारिया ने एक-एक विकेट लिया।

वेस्टइंडीज की अच्छी शुरूआत :
182 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज ने आक्रामक शुरूआत की। काइल मेयर्स और ब्रेंडन किंग ने तेजी से रन बनाए और पावरप्ले के अंदर टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचा दिया। दोनों ने पहले विकेट के लिए 53 रन जोड़े। शार्दुल ठाकुर ने एक ही ओवर में दोनों को आउट कर मैच में भारत की वापसी कराई। मेयर्स ने 36 और किंग ने 15 रन बनाए। तीसरे नंबर पर आए अथानजे भी शार्दुल का शिकार बने, उन्होंने छह रन बनाए। इसके बाद कुलदीप ने हेटमेयर को नौ रन के स्कोर पर आउट कर भारतीय फैंस की उम्मीदें जगा दीं। हालांकि, कप्तान शाई होप ने केसी कार्टी के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिए शानदार अर्धशतकीय साझेदारी की और अपनी टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचा दिया। होप ने इस बीच अपना अर्धशतक भी पूरा किया और नाबाद 63 रन की कप्तानी पारी खेली। दूसरे छोर पर केसी कार्टी 48 रन बनाकर नाबाद रहे। दोनों ने पांचवें विकेट के लिए नाबाद 91 रन जोड़े और अपनी टीम को जीत दिलाकर सीरीज में 1-1 की बराबरी पर पहुंचाया। भारत के लिए शार्दुल ने तीन और कुलदीप ने एक विकेट लिया। सीरीज का आखिरी और निर्णायक मैच मंगलवार को त्रिनिदाद में खेला जाएगा।

Harabhara Vatan

Harabhara Vatan

Next Story